Stock Market इस तरह के शेयर कर सकते हैं कंगाल (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

ऑटो में नजर आ रहे है कमाई के मौके, आईटी शेयरों को लेकर रहें सतर्क: एंड्रयू हॉलैंड

Andrew Holland बढ़ते ब्याज दर और ग्लोबल मंदी की संभावनाओं के बीच आईटी सेक्टर पर सर्तक रहने के पक्ष में है

Andrew Holland ने कहा कि वर्तमान वैल्यूएशन को देखते हुए इस समय बैंकिंग स्टॉक्स में लॉन्ग टर्म नजरिए से निवेश करने की सलाह नहीं होगी

ऑटो और ऑटो एंसिलरी शेयरों के वैल्यूएशन इस समय काफी अच्छे नजर आ रहे हैं। आगे इनसे जुड़े शेयरों में जोरदार ग्रोथ देखने को मिलेगी। इलेक्ट्रिक व्हीकल में आने वाले ग्रोथ से सिर्फ ऑटो सप्लायर को ही फायदा नहीं होगा बल्कि इससे पावर सप्लायर को भी फायदा होगा। इसकी वजह यह है कि इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए ऑटो और पावर सप्लाई दोनों तरह के कलपुर्जे की जरूरत होगी। ये बातें Avendus Capital Alternate Strategies के सीईओ एंड्रयू हॉलैंड (Andrew Holland)ने सीएनबीसी टीवी 18 के साथ हुई बातचीत में कही हैं।

ऑटो पार्ट्स वाली कंपनियों में निवेश करना सबसे बेहतर

उन्होंने इस बातचीत में कहा है कि " मेरा मानना है कि आगे ऑटो और ऑटो एंसलिरी खासकर इलेक्ट्रिक व्हीकल में काफी अच्छी तेजी देखने को मिलेगी लेकिन मैं यह कहना चाहूंगा कि इस पूरे स्पेस में आनेवाली तेजी का फायदा उठाने के लिए ऑटो पार्ट्स वाली कंपनियों में निवेश करना सबसे बेहतर होगा।"

शेयर बाजार में रहें सतर्क, BofA का अनुमान, दिसंबर तक 10 प्रतिशत लुढ़क सकता है निफ्टी

ब्रोकरेज कंपनी ने अनुमान दिया है कि दुनिया भर में मंदी की आशंका और महंगाई के ऊंचे स्तरों की वजह से 50 शेयरों वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 31 दिसंबर, 2022 तक 15,600 अंक पर रहेगा.

शेयर बाजार में रहें सतर्क, BofA का अनुमान, दिसंबर तक 10 प्रतिशत लुढ़क सकता है निफ्टी

शेयर बाजार में जून के मध्य से बढ़त शेयर बाजार में रहें सतर्क का रुख बना हुआ है. हालांकि अगर आप इस तेजी को देखते हुए बाजार में अब निवेश की तैयारी कर रहे हैं तो सावधान हो जाएं.दरअसल अमेरिकी ब्रोकरेज कंपनी बोफा सिक्योरिटीज ने भारतीय शेयर बाजारों में निवेशकों के लिए आने वाले समय में और अधिक परेशानी का संकेत दिया है. बोफा का अनुमान है कि दिसंबर तक बेंचमार्क सूचकांक में 10 प्रतिशत का और करेक्शन आएगा. ब्रोकरेज हाउस के मुताबिक दुनिया भर में जारी आर्थिक अनिश्चितता और मंदी की आशंकाओं की वजह से शेयर बाजार में दबाव बना रहेगा.

15600 के स्तर तक गिर सकता है निफ्टी

ब्रोकरेज कंपनी ने अनुमान दिया है कि 50 शेयरों वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 31 दिसंबर, 2022 तक 15,600 अंक पर रहेगा. हालांकि राहत की बात ये है कि ब्रोकरेज हाउस ने पहले निफ्टी में इससे भी ज्यादा गिरावट की आशंका जताई थी. इससे पहले बोफा ने जून में निफ्टी के दिसंबर अंत शेयर बाजार में रहें सतर्क तक 14,500 अंक पर रहने का अनुमान लगाया गया था। कंपनी ने अपने इस अनुमान में अब संशोधन शेयर बाजार में रहें सतर्क किया है. फिलहाल निफ्टी 17650 के ऊपर कारोबार कर रहा है. यानि यहां से निफ्टी में करीब 2000 अंक की गिरावट संभव है.बाजार में छोटी अवधि में उतार-चढ़ाव का रुख रहा है. अप्रैल में निफ्टी 18 हजार के स्तर के पार पहुंच गया था. हालांकि गिरावट आने पर इंडेक्स जून के मध्य तक 15300 से भी नीचे पहुंच गया. अब एक बार फिर बढ़त देखने को मिल रही है.

ये भी पढ़ें

जल्द गिरेंगे CNG और PNG के दाम, सरकार ने जारी किया ये नया आदेश

जल्द गिरेंगे CNG और PNG के दाम, सरकार ने जारी किया ये नया आदेश

सरकार ने पीएम शहरी आवास योजना की मियाद बढ़ाई, अब 2024 तक मिलेगा घर

सरकार ने पीएम शहरी आवास योजना की मियाद बढ़ाई, अब 2024 तक मिलेगा घर

बैंकों की फास्टैग पर मार्जिन बढ़ाने की मांग, क्या अब और महंगा हो जाएगा FASTag?

बैंकों की फास्टैग पर मार्जिन बढ़ाने की मांग, क्या अब और महंगा हो जाएगा FASTag?

आपको चौंका देगी UN की यह रिपोर्ट, भारत में इतने लोगों का लगा है क्रिप्टो में पैसा

आपको चौंका देगी UN की यह रिपोर्ट, भारत में इतने लोगों का लगा है क्रिप्टो में पैसा

क्यों आ सकती है गिरावट

शेयर बाजारों ने हाल में विदेशी निवेशकों के प्रवाह के साथ निरंतर बिकवाली के बाद कुछ लिवाली देखी गई है. इससे शेयर बाजार में रहें सतर्क पहले विदेशी निवेशकों ने घरेलू शेयर बाजारों से 29 अरब डॉलर से अधिक की निकासी की है. बोफा के विश्लेषकों ने एक नोट में कहा, हम मौजूदा अस्थिर माहौल और वैश्विक मंदी की चिंताओं को लेकर सतर्क बने हुए हैं. इसके अलावा ब्रोकरेज ने कच्चे तेल की उच्च कीमतों, रुपये में गिरावट जैसी चिंताओं के साथ शेयर बाजार में रहें सतर्क साथ घरेलू मुद्रास्फीति में कमी जैसे कुछ सकारात्मक बातों की ओर भी इशारा किया है

शेयर बाजार में तेजी के बीच सतर्क रहें निवेशक, क्या है बाजार के जानकारों की राय ?

सेंसेक्स 177.04 अंक यानी 0.28 प्रतिशत की तेजी के साथ रिकॉर्ड 62,681.84 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी 55.30 अंक यानी 0.30 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपने अब तक के उच्चतम स्तर 18,618.05 अंक पर बंद हुआ.

शेयर बाजार में तेजी के बीच सतर्क रहें निवेशक, क्या है बाजार के जानकारों की राय ?

घरेलू शेयर बाजारों में मंगलवार को लगातार छठे कारोबारी दिन तेजी का सिलसिला जारी रहा और दोनों प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी एक बार फिर नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए. एशिया के अन्य बाजारों में मजबूत रुख तथा विदेशी पूंजी का प्रवाह जारी रहने के साथ शेयर बाजार में आज तेजी रही. तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 177.04 अंक यानी 0.28 प्रतिशत की तेजी के साथ रिकॉर्ड 62,681.84 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान एक समय यह 382.6 अंक तक चढ़ गया था. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 55.30 अंक यानी 0.30 प्रतिशत की बढ़त के साथ अपने अब तक के उच्चतम स्तर 18,618.05 अंक पर बंद हुआ.

क्या है निवेशकों के लिए सलाह

कोटक सिक्योरिटीज लि. के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, बाजार में तेजी जारी है और प्रमुख मानक सूचकांक नई ऊंचाई पर पहुंच गये हैं. ऐसे में निवेशकों को सतर्क होकर कारोबार करना चाहिए. चीन में कोविड महामारी की रोकथाम के लिये लगाये गये लॉकडाउन को लेकर बढ़ता विरोध-प्रदर्शन चिंता का विषय है. लॉकडाउन से सुस्त पड़ती जा रही वैश्विक अर्थव्यवस्था पर और प्रतिकूल असर पड़ सकता है.उन्होंने कहा, अगर स्थिति नहीं सुधरी, इससे बाजार प्रभावित हो सकता है. लेकिन अन्य बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के मुकाबले भारत बेहतर स्थिति में है, निवेशक यहां दांव लगाने को तैयार हैं.

कैसा रहा आज का कारोबार

सेंसेक्स के शेयरों में हिंदुस्तान यूनिलीवर, सन फार्मा, नेस्ले, डॉ. रेड्डीज, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक, टाइटन और एचसीएल टेक्नोलॉजीज प्रमुख रूप से लाभ में रहे. दूसरी तरफ, नुकसान में रहने वाले शेयरों में इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, मारुति, पावरग्रिड और लार्सन एंड टुब्रो शामिल हैं. आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स के प्रमुख (फंडामेंटल रिसर्च) नरेंद्र सोलंकी ने कहा, एशिया के अन्य बाजारों में सकारात्मक रुख के साथ भारतीय बाजार बढ़त के साथ खुला दोपहर के कारोबार में एफएमसीजी तथा कंज्यूमर ड्यरेबल्स बनाने वाली कंपनियों के शेयरों में भारी लिवाली से बाजार में सकारात्मक रुख बना रहा. उन्होंने कहा, विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) के सकारात्मक रुख से भी धारणा मजबूत हुई है. एफआईआई ने नवंबर महीने में अबतक 32,344 करोड़ रुपये का निवेश किया है और वे शुद्ध लिवाल बने हुए हैं.

Stock Market: इस तरह के पेनी स्‍टॉक में कभी न करें निवेश, कर देगा कंगाल; ऐसे रहें सतर्क

शेयर बाजार के जानकार और वैल्‍यू रिसर्च सीईओ धीरेंद्र कुमार का कहना है कि फर्जी शेयर बाजार के सलाहकार लोगों को बड़े लालच देते हैं कि 1 रुपए या 50 पैसे वाले शेयर तेजी से छलांग लगाने वाले हैं और एक से दो महीने में तगड़े रिटर्न देगा।

Stock Market: इस तरह के पेनी स्‍टॉक में कभी न करें निवेश, कर देगा कंगाल; ऐसे रहें सतर्क

Stock Market इस तरह के शेयर कर सकते हैं कंगाल (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

शेयर मार्केट में अगर आप भी निवेश करते हैं तो आपको सतर्क हो जाने की आवश्‍यकता है, क्‍योंकि कई ऐसे स्‍टॉक हैं, जिसमें पैसा लगाने पर आप कंगाल हो सकते हैं या फिर यूं कहें कि इसमें पैसों का निवेश करने से आप अत्‍यधिक घाटे में जा सकते हैं। इस तरह के स्‍टॉक में निवेश करने को लेकर शेयर बाजार में रहें सतर्क सेबी ने भी निवेशकों को सतर्क किया है।

शेयर बाजार के जानकार और वैल्‍यू रिसर्च सीईओ धीरेंद्र कुमार का कहना है कि फर्जी शेयर बाजार के सलाहकार लोगों को बड़े लालच देते हैं कि 1 रुपए या 50 पैसे वाले शेयर तेजी से छलांग लगाने वाले हैं और एक से दो महीने में तगड़े रिटर्न देगा। जबकि इन स्‍टॉक का शेयर बाजार में बढ़ने का कोई चांस नहीं होता है, क्‍योंकि उस कंपनी का कभी शेयर आया था और अब उसका कारोबार खत्‍म हो चुका है।

इस तरह के शेयरों में कभी न करें निवेश
धीरेंद्र बताते हैं कि फर्जी सलाहकारों के पास पुराने शेयर पड़े हुए होते हैं, जिनका कारोबार ठप हो चुका है और वे शेयर बाजार में आगे नहीं बढ़ सकते हैं। ऐसे में फर्जी सलाहकार इस तरह के स्‍टॉक खरीदने के लिए लोगों से कहते हैं। साथ ही वे उनको लालच देते हैं कि उन्‍हें सिर्फ कुछ ही महीने में लाखों करोड़ों रुपए मिल जाएंगे। हालाकि इस तरह के शेयर खरीदने के बाद निवेशकों का पैसा डूब जाता है। फर्जी सलाहकार सोशल मीडिया, फोन या एसएमएस से निवेश की सलाह देते हैं।

Gujarat: AAP सिर्फ वोट कटवा बनकर रह गई- आप विधायक ने BJP को दिया समर्थन तो सोशल मीडिया पर केजरीवाल पर ऐसे कसे गए तंज

Himachal Pradesh Result: किसी से नहीं डरती…, हिमाचल की अकेली महिला विधायक रीना कश्यप बोलीं- कोई दबा नहीं सकता आवाज

Happy New Year 2023: शिव और अमृत योग में शुरू होगा नया साल, इन 3 राशियों के शुरू होंगे अच्छे दिन, हर कार्य में सफलता के योग

इसके पीछे इनका क्‍या लाभ
कम पैसे पर फर्जी सलाहकार ऐसे स्‍टॉक को खरीद चुके होते हैं और बेचने के लिए इसका गलत प्रचार करते हैं और जब लोग इसे खरीदना शुरू करते हैं तो इस स्‍टॉक का भाव चढ़ता है, लेकिन जब यह इन सलाहकारों के पास से बिक जाता है तो इसके भाव तेजी से गिर जाते हैं।

ये कुछ उदाहरण
इसी तरह का एक उदाहरण इनवेंचर ग्रोथ एंड सिक्‍योरिटी का है, जिसमें निवेश के लिए कुछ सलाहकारों ने दिसंबर में कहा था, जिसके बाद अगले महीने में यह तीन गुना बढ़ा, लेकिन फरवरी में इसका वैल्‍यु आधे से भी कम पर आ गया। इसी प्रकार, लासा सुपरजेनेरिक्‍स के शेयर का भी इतिहास रहा है। ऐसे ही सैकड़ों मामले सेबी के नजर में आ चुके हैं, जिसे लेकर सेबी कड़े कदम उठा रही है।

सेबी का कड़ा कदम
सेबी ऐसे फर्जी सलाहकारों को लेकर सर्च और सीज ऑपरेशन चला रहा है। इसके शेयर बाजार में रहें सतर्क अलावा प्रेस के माध्‍यम से लोगों के बीच जागरूकता फैला रहा है। साथ ही डेटा लीक के जरिए धोखेबाजों शेयर बाजार में रहें सतर्क पर नजर रखे हुए है।

Paytm व पॉलिसी बाजार से रहें सतर्क, कंपनी में सोच समझ कर लें निवेश का शेयर बाजार में रहें सतर्क शेयर बाजार में रहें सतर्क फैसला: एक्सपर्ट हेमांग जानी

Expert Hemang Jani Views: रिलायंस अपने जियो फाइनेंसियल सर्विसेज लिमिटेड की मदद से फाइनेंस सर्विस में उतरने जा रही है. जिससे इस सेक्टर की दूसरी कंपनियों की चिंता बढ़ चुकी है.

Hemang Jani

बैंकिंग सेक्टर के लगातार कर रहे अच्छे प्रदर्शन पर एक्सपर्ट जानी कहते हैं कि पिछले 5 से 7 सालों में बैंकिंग सेक्टर के स्टॉक में उस तरह की तेजी देखी गई थी जो आज देखी जा रही एक्सपोर्ट इसके पीछे का कारण बैंकिंग कंपनियों में क्रेडिट ग्रोथ, क्रेडिट ग्रोथ रिटर्न जैसे प्रमुख पहलुओं को मान रहे हैं. एक्सपर्ट के अनुसार आने वाले दो से तीन क्वार्टर में फेडरल बैंक (Federal Bank) और आईडीएफसी फर्स्ट (IDFC) बैंक अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं. इसके अलावा एक्सपोर्ट में पीएसयू बैंक के तौर पर यूनियन बैंक (Union Bank) और केनरा बैंक (Canara Bank) से अच्छे रिटर्न की संभावना जताई है.

रिलायंस जियो (Reliance jio) जो फाइनेंशियल सेक्टर में उतर रहा है. इस पर एक्सपर्ट जानी कहते हैं कि जिस तरीके से रिलायंस किसी भी सेक्टर में उतरता है तो वहां की दूसरी कंपनियों के लिए चुनौती बढ़ जाती है. अब रिलायंस फाइनेंस सर्विस की ओर बढ़ रहा है. जिससे इस सेक्टर की दूसरी कंपनियों जैसे पेटीएम, बजाज फाइनेंस के लिए कंपटीशन बढ़ गया है. वहीं एक्सपर्ट इंजीनियरिंग सेक्टर की कंपनी एबीबी इंडिया (ABB India), सीमेंस (Siemens) और एल एंड टी (L&T) कंपनी पर एक्सपर्ट पॉजिटिव नजर आ रहे हैं.

रेटिंग: 4.46
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 148