बिटकॉइन से पैसे कैसे कमाएं।

क्या आपको पता है Bitcoin क्या है, इसके क्या फायदे हैं और बिटकाॅइन से पैसे कैसे कमाएं। इस आर्टिकल में हम बिटकाॅइन बारे में जानेंगे। Bitcoin एक क्रिप्टो करेंसी है। यह पूरी तरह से डिजिटल करेंसी है। वर्तमान में हजारों Crypto Currency हैं। लेकिन बिटकॉइन सबसे पुरानी करेंसी है। इसे सन् 2009 में जापान के सतोशी नाकामोतो ने बनाया था। Bitcoin केवल online ही उपयोग किया जा सकता है। इसे आभासी मुद्रा भी कहते हैं।

बिटकॉइन के क्या उपयोग है | Use of Bitcoin

  1. गुप्त तरीके से देश के बाहर पैसा भेजना के लिए बिटकॉइन का उपयोग किया जा सकता है। यह सब पूरी तरह गुप्त रहता है, क्योंकि बिटकॉइन किसी संस्था नियंत्रण में नहीं है और इसे online यूज किया जा सकता है।
  1. बिटकॉइन का उपयोग ऑनलाइन खरीदारी के लिए भी कर सकते हैं। जो कि सुरक्षित तरीका है।
  1. लोग इसका उपयोग धन छिपाने के लिए भी करते हैं। बिटकॉइन में पैसा लंबे समय के लिए इन्वेस्ट करके भी रख सकते हैं।
  1. बिटकॉइन बेचकर जो पैसा मिलता है उसे आप सीधे अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं।

बिटकॉइन की कीमत जानन लिए आप गूगल सर्च कर सकते हैं। जैसे 1 bitcoin in INR सर्च करके इसकी मौजूदा कीमत आ जाएगी।

बिटकॉइन खरीदकर और बेचकर पैसा कमाए

वेसै तो बिटकॉइन खरीदने और बेचने के लिए बहुत सारी वेबसाइट और मोबाइल एप्स मौजूद है।

लेकिन मैं आज आपको बताऊंगा कि कैसे आप अपने फोन से bitcoin खरीद और बेचकर पैसे कमा सकते हैं। मोबाइल फोन के लिए भी बहुत सारे ऐप हैं। लेकिन मैं आपको wazirx के बारे में बताने जा रहा हूं।

Wazirx क्या है

Wazirx इंडियन ऐप है जो cryptocurrency exchange के लिए बनाया गया है जो कि Peer to Peer crypto Transaction स्वीकार करता है। इस company के तीन co-founders हैं, जिन्होंने इसे 2010 में बनाया था यह एक बहुत ही successful app रहा है. इनका मुख्य office Mumbai में स्थित हैं।

ऐप डाउनलोड करें

Wazirx में आप bitcoin या कोई भी अन्य क्रिप्टोकरेंसी का भी लेनदेन कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने मोबाइल फोन पर प्ले स्टोर में जाकर Wazirx टाइप करें और सर्च करें। सर्च होने पर ऐप को डाउनलोड कर दीजिए

अकाउट बनाएं

अब Bitcoin के फायदे क्या हैं इसमें आपको अकाउंट खोलना है जिसके लिए निम्न चीजों की जरूरत पड़ेगी

मोबाइल नंबर, ईमेल एड्रेस, आधार कार्ड, पैन कार्ड, और बैंक अकाउंट जैसे डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ेगी।

इसमें अकाउंट बनाना बहुत ही आसान है। ऐप ओपन करने के बाद आपको ईमेल एड्रेस और मोबाइल नंबर डालकर वेरीफाई करना होता है

KYC करें

इसके बाद KYC करनी होती है इसके लिए Form भरना है इसमें आपको personal detail address भरना है ध्यान रहे पूरी डिटेल डॉक्यूमेंट के मैच हो। डॉक्यूमेंट सबमिट होने के पहले सारी चीजें एक बार देख ले कहीं किसी चीज में गलती ना हो। अब documents upload करके सारी चीजें सबमिट करें। सबमिट करने के बाद 24 से 48 घंटे में आपकी KYC verify हो जाएगा।

यदि किसी कारणवश आपका अकाउंट verify ना हो पाए तो आपके लिए एक मेल आएगा। जिसमें अकाउंट वेरीफाई पूरी detail detail रहेगी कि अकाउंट वेरीफाई क्यों नहीं हुआ।

Wazirx में आप दो तरीके से क्रिप्टो करेंसी का लेन देन कर सकते हैं।

1. Peer to peer transaction

इसमें आप डायरेक्ट किसी दूसरे व्यक्ति से क्रिप्टो खरीद या उसे बेच सकते हैं, इसमें आपको बिल्कुल भी चार्ज फीस नहीं लगता। ट्रांजैक्शन तब तक पूरी नहीं होती जब तक कि दो लोगों के बीच buy और sell मैच नहीं हो जाता।

2. Cryptocurrency exchange

इस तरीके से आप सीधे cryptocurrency खरीद करते हैं। इसमें बिल्कुल भी समय नहीं लगता लेकिन इसमें लेन देन करने के लिए ट्रांजेक्शन फीस लगती है।

इसमें आप तभी पैसे कमा सकते हैं जब आप बिटकाॅइन कम कीमत पर खरीदकर अधिक कीमत पर बेचेंगे। जितनी अधिक कीमत पर बेचेंगे उतना ही परसेंटेज के हिसाब से आपको मुनाफा होता है। लेकिन यह खतरे से खाली भी नहीं है। कीमत गिरने पर भी नुकसान होना स्वाभाविक है।

दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने आपको bitcoin के बारे में बताया है । इसे आप Wazirx से खरीद सकते हैं। जो कि एक इंडियन ऐप है। इसे crypto लेन देन के लिए बनाया गया है। इसके जरिए आप मोबाइल से ही क्रिप्टोकरेंसी खरीद और बेच सकते हैं। दोस्तों यह आर्टिकल आपको कैसा लगा, कमेंट में जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ आर्टिकल को शेयर करें ऐसे ही आने वाले आर्टिकल के लिए हमारा ब्लॉक फॉलो करें। धन्यवाद!

Bitcoin से 10 गुना ज्‍यादा महंगा हुआ यह Crypto Token, 24 घंटे में 93 करोड़ रुपए से ज्‍यादा हुई कीमत

कॉइन मार्केट कैप डॉट कॉम के आंकड़ों के अनुसार कंपाउंड रैप्‍ड बीटीसी (Wrapped BTC) में 57 हजार फीसदी से ज्‍यादा तेजी देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से उसकी कीमत दोबर 12 बजकर 34 मिनट पर 5.41 लाख डॉलर यानी 4.12 करोड़ रुपए देखने को मिल रही है।

Wrapped BTC is 10 times more expensive than bitcoin, value of more than Rs 93 crore in 24 hours

बिजनेस डेस्‍क। क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट (Cryptocurrency Market) में कई तरह की क्रिप्‍टोकरेंसी हैं, जो निवेशकों को मालामाल करने में कोई कसर नहीं छोड़ती हैं। लेकिन इनमें से सभी करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) से छोटी ही थी। दुनिया की सबसे पुरानी क्रिप्‍टोकरेंसी को पछाड़ने का माद्दा किसी ने नहीं दिखाया था। अब ऐसी क्रिप्‍टोकरेंसी सामने आई है जिसने बिटकॉइन की कीमत (Bitcoin Price) को कोसों दूर छोड़ दिया है। मौजूदा समय में वो बिटकॉइन के मुकाबले 10 गुना महंगी है। जबकि कारोबारी Bitcoin के फायदे क्या हैं स्‍तर के दौरान वो 250 गुना ज्‍यादा महंगी थी। इस करेंसी का नाम है रैप्‍ड बीटीसी (Wrapped BTC) । आइए आपको बताते हैं इस करेंसी के बारे में।

रैप्‍ड बीटीसी की कीमत में जबरदस्‍त उछाल
कॉइन मार्केट कैप डॉट कॉम के आंकड़ों के अनुसार कंपाउंड रैप्‍ड बीटीसी में 57 हजार फीसदी से ज्‍यादा तेजी देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से उसकी कीमत दोबर 12 बजकर 34 मिनट पर 5.41 लाख डॉलर यानी 4.12 करोड़ रुपए देखने को मिल रही है। ताज्‍जुब की बात तो ये है कि इस कॉइन की कीमत 24 घंटे पहले 935 डॉलर यानी 71 हजार डॉलर से कुछ ज्‍यादा थी, जो 12.22 करोड़ डॉलर यानी 93 करोड़ रुपए तक पहुंची। अभी इसके मार्केट कैप और बाकी चीजों के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है। उसके बाद भी इसमें बड़ी तेजी देखने को मिल Bitcoin के फायदे क्या हैं रही है।

बिटकॉइन के मुकाबले 10 गुना महंगी
खास बात तो ये है अब दुनिया की सबसे महंगी क्रिप्‍टोकरेंसी कीमत के मामले में रैप्‍ड बीटीसी हो गई है। इससे पहले बिटकॉइन के पास यह ताज था, लेकिन मार्केट कैप के मामले में अभी बिटकॉइन सबसे बड़ी करेंसी है। मौजूदा समय में बिटकॉइन के दाम 48000 डॉलर के आसपास हैं। इसका मतलब है कि मौजूदा समय में रैप्‍ड बीटीसी बिटकॉइन से 10 गुना से भी ज्‍यादा महंगी हो गई हैं। आज बिटकॉइन के दाम में 3 फीसदी से ज्‍यादा की तेजी देखने को मिल रही है।

क्‍या है रैप्‍ड बीटीसी
रैप्ड बिटकॉइन एक ईआरसी -20 टोकन है, जो इथेरियम ब्लॉकचेन पर बिटकॉइन का रिप्रजेंटेटिव है। WBTC का एक प्रमुख लाभ इथेरियम वॉलेट, डैप और स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट एक ही सिस्‍टम में आ गए हैं। WBTC पार्टनर के माध्यम से, 1 बिटकॉइन को 1 रैप्ड बिटकॉइन में बदला जा सकता है। WBTC तैयार करने उद्देश्‍य यह था कि बिटकॉइन होल्‍डर्स को डिसेंट्रलाइज फाइनेंस (DeFi) ऐप में पार्टिसिपेट करने की अनुमति मिल सके, जो इथेरियम ब्‍लॉकचेन पर काफी पॉपुलर है। WBTC का रखरखाव WBTC DAO नाम का ग्रुप करता है, जिसमें 30 से अधिक मेंबर हैं। यह मूल रूप से BitGo, Ren और Kyber नाम की 3 कंपन‍ियों के द्वारा शुरू किया गया था।

कैसे काम करता है रैप्‍ड बिटकॉइन
मान लीजिए आपके पास पहले से ही बिटकॉइन हैं और डेफी एप्‍लीकेशंस का उपयोग करना चा‍हते हैं, लेकिन एक समस्या है वो ये कि बिटकॉइन और इथेरियम को जोड़ने वाला कोई क्रिप्टोक्यूरेंसी ब्रिज नहीं है। रैप्‍ड बीटीसी इस समस्या को हल करने में मदद करता है, और डेफी प्रोटोकॉल के लिए आवश्यक लिक्विडिटी प्रोवाइड कराता है। WBTC एक ERC-20 टोकन है जो बिटकॉइन के साथ 1:1 के आधार पर समर्थित है। जब बिटकॉइन रैप किया जाता है, तो क्रिप्टोकरेंसी को बिटगो ट्रस्ट द्वारा रिजर्व में रखा जाता है।

रैप टोकन के फायदे
ये टोकन डिजिटल असेट्स के मालिकों को अन्य ब्लॉकचेन का पता लगाने की फ्रीडम देते हैं। DeFi इकोसिस्टम का एक बड़ा हिस्सा बिटकॉइन ब्लॉकचेन के बजाय इथेरियम नेटवर्क पर बेस्‍ड है। यह बीटीसी मालिकों के लिए बेहद निराशाजनक हो सकता है, क्योंकि इसका मतलब है कि उनके लिए इसमें शामिल होना लगभग असंभव है जब तक कि वे अपनी क्रिप्टो संपत्ति नहीं बेचते या दूसरों को नहीं खरीदते। जनवरी 2019 में WBTC.network लॉन्च होने के बाद से, कई DeFi प्रोटोकॉल – जिनमें मेकरडीएओ, धर्मा, कंपाउंड और किबर नेटवर्क शामिल हैं – ने उधारकर्ताओं को WBTC को कॉलेटरल के रूप में उपयोग करने की अनुमति देना शुरू कर दिया है।

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश का है इरादा, आगे बढ़ने से पहले पांच जरूरी बातें

नई दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। पिछले कुछ दिनों से क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) लगातार सुर्खियों में है। इससे जुड़े फायदे नुकसान पर चर्चा तेजी से जारी है। इस बीच लोग अचानक क्रिप्टो करेंसी (cryptocurrency) में निवेश करने में दिलचस्पी ले रहे हैं, क्रिप्टो से जुड़े स्कैम होने की संभावनाएं भी जताई जाती रही है। क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) को रेग्यूलेट करने के लिए फिलहाल भारत में कोई बड़ा फैसला नहीं हुआ है। हालांकि एडवर्टाइजिंग काउँसिल ने अपने स्तर पर गाइडलाइन जारी की है। जिसमें कहा गया है कि 1 अप्रैल 2022 के बाद क्रिप्टो से जुड़े विज्ञापनों में डिस्क्लेमर देने जरूरी कर दिया गया है। जिसमें विज्ञापन देने वालों को ये साफ साफ लिखना होगा कि क्रिप्टो करेंसी भारत में रेग्युलेटेड नहीं है, इसमें निवश करना जोखिम भरा हो सकता है।

जोखिमों की जानकारी के बावजूद लोग क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने में दिलचस्पी ले रहे हैं। ऐसे में क्रिप्टो करेंसी के कुछ जानकारों ने इसमें निवेश से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखने की सलाह दी है।

पूरी जानकारी लें
क्रिप्टो करेंसी में निवेश से पहले पूरी रिसर्च करना जरूरी है, निवेश का फैसला करने से पहले क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में पूरी जानकारी लेना सही होता है। रिसर्च के दौरान कई फैक्टर्स पर ध्यान देना चाहिए कि निवेश कब किया जाना चाहिए, निवेश से आपको कितना फायदा होगा। कीमतों को कौन कौन से फेक्टर्स प्रभावित करेंगे।

क्रिप्टो एक्सचेंज से निवेश
अपनी रिसर्च के आधार पर ही क्रिप्टोकरेंसी का सिलेक्शन करें। ज्यादा संख्या में अलग अलग डिजिटल करेंसी तलाशने की जगह जिसकी जानकारी अच्छे से मिले उसी में निवेश करें। निवेश के बाद किसी भी नुकसान से बचने के लिए किसी जाने माने क्रिप्टो एक्सचेंज से निवेश की सलाह दी जाती है।

संचालक को जानें
निवेश से पहले ये जरूर जान लें कि जिस भी क्रिप्टो करेंसी में आप पैसा डाल रहे हैं, उसका संचालन कौन कर रहा है। टीम की जानकारी मिलते ही अलग अलग सोशल मीडिया पर उस टीम से जुड़ी सारी जानकारी जरूर हासिल करें।

गणित समझें
क्रिप्टोकरेंसी का गणित जरूर समझ लें, इसे टोकोनॉमिक्स कहा जाता है। टोकोनॉमिक्स यानि कि क्रिप्टो करेंसी की इकोनॉमिक्स, जिसे समझ कर आप ये जान सकते हैं कि डिमांड और सप्लाई का तरीका और सही समय क्या है, ये पूरा खेल समझने के बाद ही आगे बढ़ें।

जोखिम की तैयारी
विशेषज्ञों का मानना है कि क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने वालों को उतना ही पैसा इसमें लगाना चाहिए जिसका घाटा वो बर्दाश्त कर सकें। पूरी तैयारी से निवेश करने के बावजूद नुकसान की संभावना हमेशा बनी ही रहेगी।

*Disclaimer :- इसमें निवेश करने से पहले सही से जानकारी प्राप्त कर लें, तभी निवेश करने में दिलचस्पी लें, MPBreakingnews इसकी पुष्टि नहीं करता है।

Bitcoin: 2030 तक 1 करोड़ पर पहुंच जाएंगे बिटकॉइन: ZebPay के राहुल पगड़ीपति

Bitcoin: 2030 तक 1 करोड़ पर पहुंच जाएंगे बिटकॉइन: ZebPay के राहुल पगड़ीपति

सुप्रीम कोर्ट के बैन हटाने के बाद मार्च 2020 से बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमतों में 300% का इजाफा दर्ज हुआ है . ZebPay के सीईओ राहुल पगड़ीपति ने क्रिप्टोकरेंसी के लेन – देन , लीगल स्टेटस और उससे जुड़े खतरों पर मनी 9 से बात की .

भारत में बिटकॉइन का लीगल स्टेटस क्या है ?

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) भारत में कभी भी अवैध नहीं रही है , और आरबीआई ने खुद कहा है कि क्रिप्टो करेंसी कानूनी है ( वास्तव में , RBI ने क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) में ट्रेडिंग के प्रति आगाह किया है ). हम इसको लेकर रेग्युलेरिटी क्लेरिटी ( नियम – कानून ) समझने के लिए तैयार हैं . लेकिन कई मौजूदा कानून क्रिप्टो पर लागू होते हैं , भले ही उनमें क्रिप्टो शब्द शामिल न हो . हमारी लीगल टीम इस बात का विश्वास दिलाती है कि हम ईमानदारी से कानून का पालन करेंगे . हमारा मानना है कि जब तक क्रिप्टो फर्म को रेग्युलेट नहीं किया जाता , ग्राहकों और जनता की सुरक्षा के लिए उन्हें सेल्फ रेग्युलेट करना चाहिए . और एक ऐसा मॉडल पेश करना चाहिए जिसे भविष्य की नीति के तौर पर देखा जाए . भारतीय निवेशकों को जानना चाहिए कि क्रिप्टो भारत में कानूनन है लेकिन उन्हें एक विश्वसनीय एक्सचेंज के माध्यम से निवेश करना चाहिए जो उचित KYC और Bitcoin के फायदे क्या हैं मनी – लॉन्ड्रिंग विरोधी नीतियों का पालन करता है .

क्या आगे भी बढ़ेंगी बिटकॉइन की कीमतें ?

इस छोटे समय में बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमतों को लेकर कुछ कहना बेहद कठिन होगा . लेकिन लॉन्ग टर्म में इसकी कीमत में इजाफा होने की काफी संभावनाएं हैं . हम उम्मीद कर रहे हैं कि बिटकॉइन 2030 तक 1 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा .

बिटकॉइन की कीमतों को कौन नियंत्रित करता है ?

ये पूरी तरह वैश्विक निवेशकों की डिमांड और सप्लाई पर निर्भर करता है . बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत रुपये के एक अंश से बढ़कर वर्तमान में 17 लाख रुपये से अधिक हो गई है .

भारत में बिटकॉइन यूजर्स कितने हैं ? और उनका ऐज प्रोफाइल क्या है ?

भारत में अनुमानित रूप से 50 लाख क्रिप्टो निवेशक मौजूद हैं . ZebPay के पास अकेले 35 लाख क्रिप्टो निवेशक हैं . इन निवेशकों की उम्र 25 से 40 साल के बीच की है . कुल भारतीय निवेशकों में महिलाओं की बात करें तो उनकी संख्या करीब 8% है . ZebPay के पास 15% महिला क्रिप्टो निवेशक हैं .

बिटकॉइन में ट्रेड कैसे करें ?

बिटकॉइन (Bitcoin) प्राप्त करने का सबसे सरल तरीका , रुपये की औसत लागत है , जिससे कि निवेश की गई औसत कीमत बेस्ट पॉसिबल प्राइज साबित हो . ZebPay की तरफ से हम आपको सलाह देंगे कि लॉन्ग टर्म के लिए निवेश करें . निवेशकों को बिटकॉइन की स्टोरी वैल्यू समझनी चाहिए , बजाए कि शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग और अटकलों के . 3.5 सालों तक बिटकॉइन (Bitcoin) को रखना 99.9% फायदे का सौदा साबित हो सकता है . जो ऐसा किसी भी अन्य निवेश में अभी तक नहीं देखा गया है .

आप किसी भी क्रिप्टो एक्सचेंज पर रजिस्ट्रेशन के साथ ही शुरुआत कर सकते हैं . रजिस्ट्रेशन को पूरा करने में सिर्फ पांच मिनट का वक्त लगेगा . शुरुआत 100 रुपये से करें , जिसे आप हर दिन , सप्ताह या महीने में निवेश करने के लिए प्रतिबद्ध करते हैं .

इसमें कौन से खतरे शामिल हैं ?

किसी भी दूसरे मार्केट के जैसे बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत में अस्थिरता रहती है . निवेशकों को उतार चढ़ाव के लिए तैयार रहना चाहिए और केवल जोखिम पूंजी के साथ निवेश करें .

ऐसी रिपोर्ट्स हैं , जिसमें एक्सचेंज बिटकॉइन (Bitcoin) के विड्रॉल की अनुमति नहीं दे रहे हैं . ये क्या मामला है ?

ZebPay पर विड्रॉल आसान और जल्दी संभव है . हम दूसरे एक्सचेंज के बारे में कुछ नहीं कह सकते हैं .

बिटकॉइन पर टैक्स कैसे लगता है ?

मौजूदा टैक्स कानून की गाइडलाइन को इस्तेमाल किया जा सकता है . और हम अपने सदस्यों को क्रिप्टो से होने वाली आय को दिखाने के लिए प्रोत्साहित कर , पेशेवर सलाह लेने की बात कहते हैं . इससे आगे रेग्युलेटरी क्लेरिटी ( नियामक Bitcoin के फायदे क्या हैं स्पष्टता ) लोगों की मदद करेगी .

ऐसी रिपोर्ट्स है कि अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की राशि बिटकॉइन में मांगी थी , यै कैसे काम करता है ?

ऐसे केस मीडिया की सुर्खियां बनते हैं लेकिन रिसर्च बताती है कि 1% से भी कम बिटकॉइन ट्रांजेक्शन में क्रिमिनल एक्टिविटी शामिल होती है . अपराधियों के रुपए , डॉलर या दूसरी परंपरागत करेंसी मांगने की ज्यादा संभावनाएं हैं . और हमारे जैसे एक्सचेंज जो सख्त KYC और मनी – लॉन्ड्रिंग विरोधी नीतियों का कानूनी समर्थन करते हैं .

Disclaimer: कॉलम में व्यक्त किए गए विचार लेखक के हैं. लेख में दिए फैक्ट्स और विचार किसी भी तरह Money9.com के विचारों को नहीं दर्शाते.

What is cryptocurrency | advantage and disadvantage of cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी क्या है | क्रिप्टो करेंसी के फायदे और नुकसान क्या है

दुनिया के किसी भी व्यक्ति, संस्था या देश को अपनी मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति और आपसी लेन देन के लिए एक मुद्रा यानी कि एक currency की आवश्यकता होती है। जैसे कि भारत में रूपया है, अमेरिका में डॉलर है, इंग्लैंड में पाउंड्स है वैसे ही वर्तमान में एक नई करेंसी प्रचलन में है और वो है cryptocurrency तो आइए जानते हैं कि ये crytocurreny क्या है?

Cryptocurrency
Cryptocurrency

What is cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी क्या है

Cryptocurrency एक ऐसी मुद्रा है जो computer Algorithm पर बनी होती हैं। यह एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसका कोई मालिक नहीं होता। यह curreny किसी भी authority के काबू में नहीं होती है अमूमन डॉलर, रुपया, यूरो या अन्य मुद्रा के तरह ही इस मुद्रा का चलन किसी राज्य, देश, संस्था, या सरकार द्वारा नहीं किया जाता। यह एक digital currency होती है जिसके लिए cryptography का प्रयोग किया जाता है।

आमतौर पर इसका उपयोग किसी समान की खरीदारी या कोई service खरीदने के लिए किया जाता है। इसे न तो कोई देख सकता है न ही कोई छू सकता है। क्योंकि भौतिक रूप से cyptocurrency का मुद्रण होता ही नहीं है। इस लिए इसे आभासी (virtual) मुद्रा (currency) भी कहा जाता है।

पिछले कुछ सालों में ऐसे currency काफी प्रचलित हुई। नॉलेज के लिए हम सबको पता होना चाहिए की सर्वप्रथम cryptocurrency का इस्तेमाल 2009 में हुई थी जो की bitcoin थी। Bitcoin के अलावा अन्य cryptocurrency बाजार में उपलब्ध हैं जिनका प्रयोग आजकल हो रहा है जैसे कि redcoin, ripple, litecoin, ethereum इत्यादि।

What are the advantages of crypto currency| क्रिप्टो करेंसी के फायदे क्या है

आइए जानते हैं कृपया करेंसी के लाभ क्या क्या है? हमें पता है किसी भी वस्तु का फायदे और नुकसान दोनों होता है। इसलिए सबसे पहले क्रिप्टोकरंसी के लाभ के बारे में बात करते हैं। आम पर कह सकते हैं कि कृपया करण से क्या लाभ ज्यादा है और नुकसान कम है।

2. अधिक पैसा होने पर cryptocurrency में निवेश करना अधिक फायदेमंद है। क्योंकि इसके कीमतों में बहुत तेजी से उछाल आता है। निहाजा निवेश के लिए एक बहुत अच्छा Bitcoin के फायदे क्या हैं प्लेटफार्म है।

3. अधिकतर cryptocurrency के wallet उपलब्ध है, जिसके चलते ऑनलाइन खरीदारी, पैसे का लेन देन सरल हो चुका है।

4. cryptocurrency को कोई भी Authority कंट्रोल नहीं करती जिसके चलते नोटबंदी और करेंसी का मूल्य घटने जैसा खतरा किसी के सामने नहीं आता।

5. कई बार ऐसे हैं जहां कैपिटल कंट्रोल नहीं है मतलब कि यह बात तय ही नहीं है कि देश के बाहर कितना पैसा भेजा जा सकता है और कितना पैसा मंगवाया जा सकता है।लिहाजा cryptocurrency खरीद कर उसे बाहर आसानी से भेजे जा सकते हैं। उसे पैसे में कन्वर्ट कर लिया जाता है।

6. cryptocurrency का फायदा उन लोगों को होता है जो अपना धन छुपा कर रखना चाहते हैं। इसलिए cryptocurrency पैसे छुपा कर रखने के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म उभर कर आया है।

7. cryptocurrency पूरी तरह से सुरक्षित है बस आपको उसके लिए ऑथेंटिकेशन रखने की आवश्यकता होती है। क्योंकि ऐसे currency, blockchain पर आधारित है। लिहाजा किसी भी प्रकार का ट्रांजैक्शन करने के लिए पूरे blockchain को माइंड करना पड़ता है।

अभी तक हमने cryptocurreny के लाभ के बारे में बताया आपको तो पता ही होगा की जहा फायदा होता है वही नुकसान भी अपना पाव पसारता है। तो फिर चलिए जानते हैं cryptocurrency के नुकसान के बारे में।

What are the disadvantage of cryptocurrency | क्रिप्टो करेंसी के नुकसान क्या हैं

1. Cryptocurrency का सबसे बड़ा नुकसान तो ये है कि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं है क्योंकि इसका मुद्रान नही किया जाता। मतलब कि न ही इस करेंसी के नोट छापे जा सकते हैं और न ही इस करेंसी के बैंक या पासबुक जारी किए जा सकते हैं।

2. इसको control करने के लिए कोई देश, सरकार, या संस्था नही है। जिससे की इसकी कीमत में बहुत उछाल या फिर बहुत अधिक गिरावट देखने को मिलता हैं। जिसके वजह से cryprocurrency में निवेश करना थोड़ा जोखिम भरा है।

3. Cryptocurency का इस्तेमाल गलत कामों को बढ़ावा देता है जैसे कि इसका इस्तेमाल हथियार बनाना, खरीद फरोख्त, ड्रक्स सप्लाई, कालाबाजारी आदि में इसे किया जा सकता है। जो कि इसका इस्तेमाल दो लोगो के बीच में ही किया जा सकता है। ज्यादा यह काफी खतरनाक हो सकता है।

4. Cryptocurreny को हैक करने का भी खतरा बना रहता है। यह बात बीगर है कि Blockchain को हैक करना उतना आसान नहीं है। क्योंकि इसमें security का पूरा इंतजाम होते हैं। बावजूद इसके इस currecy के मालिक न होने के कारण hacking होने से मना भी नहीं किया जा सकता।

5. यदि cryptocurrecy का transaction आपसे गलती से किसी और के पास हो गया तो इसे वापस नहीं मंगा सकते। जिससे आपको घाटा होता है।

यह सब जानने के बाद आपके दिमाग में क्वेश्चन आ रहा होगा कि क्या कानूनी रूप से इसे उपयोग करना वैध है या नहीं। दर्शन इसका उत्तर आपके इस बात पर निर्भर करता है कि आप कौन से देश में रह रहे हैं। वहां कौन सा करेंसी प्रचलन में है। कौन सा देश में इसे वैध माना गया है या नहीं। क्योंकि कुछ देश में क्रिप्टोकरंसी को ग्रे जोन में रखा गया है। पता उस देश में न तो औपचारिक तौर पर इसे यूज करने के लिए कहा गया और ना ही इसे कानूनी रूप से वैध करने के लिए कहां गया हो।

आतम कह सकते हैं कि भारत में क्रिप्टो करेंसी के कीमतों में उछाल होने के कारण लोगों में इस का रुझान देखने को मिल रहा है। आने वाले समय में हो सकता है कि भारत में भी इसे चलाने का औपचारिक रूप से इसे वैध करने के तरफ बढ़े।

आप लोगों से उम्मीद करते हैं कि क्रिप्टो करेंसी से संबंधित यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया अपने दोस्तों के साथ ही से शेयर करें। इसी तरह की और इंफॉर्मेशन के लिए हमें सब्सक्राइब करें।

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 249