इन्वेस्टमेंट बैंकों को अक्सर उनके बेचे जाने वाले फाइनेंशियल प्रॅाडक्ट के रुप में जाना जाता है. इसके साथ ही इनको भौगोलिक स्थिति के आधार पर भी कैटेगराइज्ड किया जाता है. ये बैंक रेगुलर रुप से उन डील के साइज के बेसिस पर कैटेगराइज्ड होते हैं जिनको वे मीडिएट करते हैं. डील के साइज के साथ इंवेस्टमेंट बैंकों का काम बहुत अलग होता है. जैसे कि बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया के कुछ सबसे बड़े फाइनेंशियल सर्विस ब्रांड हैं. इन बैंकों में बार्कलेज, जेपी मॉर्गन, सिटी बैंक आदि जैसी कंपनियां शामिल हैं. इन ऑर्गनाइजेशन को पहले से ही रिटेल बैंकिंग, मॅार्गेज लोन देने के लिए खास तौर से जाने जाता हैं. साथ ही ये कॉर्पोरेट बैंकिंग डोमेन में बड़े बिजनेस हित के लिए भी काम करते हैं. यही उन्हें एक ब्रांड पहचान देता है. बल्ज ब्रैकेट शब्द का यूज फेमस मल्टीनेशनल इंवेस्टमेंट बैंकों इनवेस्टमेंट बैंकिंग के लिए किया जाता है. बल्ज ब्रैकेट्स इस बारे में काफी चूजी हैं कि वे किसके साथ बिजनेस करते हैं. वे आमतौर पर डील में तभी शामिल होते हैं जब डील का आकार $1 बिलियन से ज्यादा हो. बल्ज ब्रैकेट इन्वेस्टमेंट बैंकों की एक और क्वालिटी ये है कि वे बहुत सारी सर्विस देते इनवेस्टमेंट बैंकिंग हैं जो इंवेस्टमेंट बैंकिंग से जुड़ी होती हैं जैसे कि एडवाइजरी और रिसर्च. बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया भर की अलग-अलग जगहों से ऑपरेट होते हैं. ये उन्हें एक बेहतर ग्लोबल नेटवर्क डेवलप करने और कस्टमर की जरूरतों को पूरा करने के अवसर देता है. बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्मेंट बैंक हैं. इसी तरह और भी तरह के इन्वेस्टमेंट बैंक होते हैं.

William Blair lobby

बैंक ऑफ महाराष्ट्र

बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र कभी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस के माध्‍यम से किसी भी उद्देश्‍य हेतु बैंक खाते के ब्‍यौरे नहीं मांगता।
बैंक सभी ग्राहकों से अपील करता है कि ऐसे किसी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस का उत्‍तर न दें, और किसी से भी, किसी भी उद्देश्‍य हेतु अपने बैंक खाते के ब्‍यौरे साझा न करें। किसी से भी अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड का सीवीवी/पिन साझा न करें।

Investment Banking क्या है?

Investment Banking एक वित्तीय सेवा है जो बैंकिंग विभाग या वित्त कंपनी द्वारा प्रदान की जाती है। यह पूंजी जुटाने या बनाने के लिए उच्च-निवल मूल्य वाले व्यक्तियों, कंपनियों या सरकार की सहायता करता है। वे सभी प्रकार के निगमों के लिए नई प्रतिभूतियों को अंडरराइट करते हैं, प्रतिभूतियों की बिक्री में सहायता करते हैं, और विलय और अधिग्रहण या पुनर्गठन की व्यवस्था करते हैं।

एक निवेश बैंकर एक विशेषज्ञ होता है जो बड़ी परियोजनाओं की व्यवहार्यता के बारे में निगमों को समझता है और सलाह देता है। वह अपने ग्राहक के समय और धन का निवेश करने से पहले परियोजनाओं से जुड़े जोखिमों की पहचान करने में मदद करता है।

'निवेश बैंकिंग' की परिभाषा [Definition of 'Investment Banking'] [In Hindi]

निवेश बैंकिंग बैंकिंग संचालन का एक विशेष खंड है जो व्यक्तियों या संगठनों को पूंजी जुटाने और उन्हें वित्तीय परामर्श सेवाएं प्रदान करने में मदद करता है।

Investment Banking क्या है?

वे सुरक्षा जारीकर्ताओं और निवेशकों के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करते हैं और नई फर्मों को सार्वजनिक होने में मदद करते हैं। वे या तो सभी उपलब्ध शेयरों को अपने विशेषज्ञों द्वारा अनुमानित मूल्य पर खरीदते हैं और उन्हें जनता के लिए पुनर्विक्रय करते हैं या जारीकर्ता की ओर से शेयर बेचते हैं और प्रत्येक शेयर पर कमीशन लेते हैं। Infrastructure Investment Trusts (InvITs) क्या है ?

निवेश बैंकिंग कौशल [Investment Banking Skills]

Investment Banking कार्य के लिए बहुत अधिक वित्तीय मॉडलिंग और मूल्यांकन की आवश्यकता होती है। चाहे अंडरराइटिंग या M&A गतिविधियों के इनवेस्टमेंट बैंकिंग लिए, बैंकों के विश्लेषक और सहयोगी एक्सेल में बहुत समय बिताते हैं, वित्तीय मॉडल बनाते हैं और अपने ग्राहकों को सलाह देने और सौदों को पूरा करने के लिए विभिन्न मूल्यांकन विधियों का उपयोग करते हैं।

  • वित्तीय मॉडलिंग (Financial Modeling ) - 3-स्टेटमेंट मॉडल, डिस्काउंटेड कैश फ्लो (डीसीएफ) मॉडल, एलबीओ मॉडल और अन्य प्रकार के वित्तीय मॉडल बनाने जैसी वित्तीय मॉडलिंग गतिविधियों की एक विस्तृत श्रृंखला का प्रदर्शन करना।
  • व्यावसायिक मूल्यांकन (Business Valuation) - तुलनात्मक कंपनी विश्लेषण, मिसाल लेनदेन और डीसीएफ विश्लेषण जैसे मूल्यांकन विधियों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग करना।
  • पिचबुक और प्रस्तुतियाँ (Pitchbooks and presentations) - संभावित ग्राहकों के लिए स्क्रैच से पिच विचारों तक पिचबुक और पीपीटी प्रस्तुतियों का निर्माण और नया व्यवसाय जीतें
  • लेन-देन दस्तावेज (Transaction Documents) - गोपनीय सूचना ज्ञापन (सीआईएम), निवेश टीज़र, टर्म शीट, गोपनीयता समझौता, डेटा रूम का निर्माण, और बहुत कुछ जैसे इनवेस्टमेंट बैंकिंग दस्तावेज तैयार करना
  • संबंध प्रबंधन (Relationship Management)- किसी सौदे को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए मौजूदा ग्राहकों के साथ काम करना और यह सुनिश्चित करना कि ग्राहक प्रदान की जा रही सेवा से खुश हैं।
  • बिक्री और व्यवसाय विकास (Sales & Business Development)- संभावित ग्राहकों के साथ लगातार मिलना, उन्हें विचारों को पिच करना, उन्हें अपने काम में सहायता प्रदान करना, और मूल्य वर्धित सलाह प्रदान करना जो अंततः नए व्यवसाय को जीतेगा।
  • बातचीत (Negotiation)- एक लेन-देन में खरीदारों और विक्रेताओं के बीच बातचीत की रणनीति में एक प्रमुख कारक होने के नाते और ग्राहकों को मूल्य निर्माण को अधिकतम करने में मदद करना।

Investment Banking क्या है?

Investment Banking एक वित्तीय सेवा है जो बैंकिंग विभाग या वित्त कंपनी द्वारा प्रदान की जाती है। यह पूंजी जुटाने या बनाने के लिए उच्च-निवल मूल्य वाले व्यक्तियों, कंपनियों या सरकार की सहायता करता है। वे सभी प्रकार के निगमों के लिए नई प्रतिभूतियों को अंडरराइट करते हैं, प्रतिभूतियों की बिक्री में सहायता करते हैं, और विलय और अधिग्रहण या पुनर्गठन की व्यवस्था करते हैं।

एक निवेश बैंकर एक विशेषज्ञ होता है जो बड़ी परियोजनाओं की व्यवहार्यता के बारे में निगमों को समझता है और सलाह देता है। वह अपने ग्राहक के समय और धन का निवेश करने से पहले परियोजनाओं से जुड़े जोखिमों की पहचान करने में मदद करता है।

'निवेश बैंकिंग' की परिभाषा [Definition of 'Investment Banking'] [In Hindi]

निवेश बैंकिंग बैंकिंग संचालन का एक विशेष खंड है जो व्यक्तियों या संगठनों को पूंजी जुटाने और उन्हें वित्तीय परामर्श सेवाएं प्रदान करने में मदद करता है।

Investment Banking क्या है?

वे सुरक्षा जारीकर्ताओं और निवेशकों के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करते हैं और नई फर्मों को सार्वजनिक होने में मदद करते हैं। वे या तो सभी उपलब्ध शेयरों को अपने विशेषज्ञों द्वारा अनुमानित मूल्य पर खरीदते हैं और उन्हें जनता के लिए पुनर्विक्रय करते हैं या जारीकर्ता की ओर से शेयर बेचते हैं और प्रत्येक शेयर पर कमीशन लेते हैं। Infrastructure Investment Trusts (InvITs) क्या है ?

निवेश बैंकिंग कौशल [Investment Banking Skills]

Investment Banking कार्य के लिए बहुत अधिक वित्तीय मॉडलिंग और मूल्यांकन की आवश्यकता होती है। चाहे अंडरराइटिंग या M&A गतिविधियों के लिए, बैंकों के विश्लेषक और सहयोगी एक्सेल में बहुत समय बिताते हैं, वित्तीय मॉडल बनाते हैं और अपने ग्राहकों को सलाह देने और सौदों को पूरा करने के लिए विभिन्न मूल्यांकन विधियों का उपयोग करते हैं।

  • वित्तीय मॉडलिंग (Financial Modeling ) - 3-स्टेटमेंट मॉडल, डिस्काउंटेड कैश फ्लो (डीसीएफ) मॉडल, एलबीओ मॉडल और अन्य प्रकार के वित्तीय मॉडल बनाने जैसी वित्तीय मॉडलिंग गतिविधियों की इनवेस्टमेंट बैंकिंग एक विस्तृत श्रृंखला का प्रदर्शन करना।
  • व्यावसायिक मूल्यांकन (Business Valuation) - तुलनात्मक कंपनी विश्लेषण, मिसाल लेनदेन और डीसीएफ विश्लेषण जैसे मूल्यांकन विधियों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग करना।
  • पिचबुक और प्रस्तुतियाँ (Pitchbooks and presentations) - संभावित ग्राहकों के लिए स्क्रैच से पिच विचारों तक पिचबुक और पीपीटी प्रस्तुतियों का निर्माण और नया व्यवसाय जीतें
  • लेन-देन दस्तावेज (Transaction Documents) - गोपनीय सूचना ज्ञापन (सीआईएम), निवेश टीज़र, टर्म शीट, गोपनीयता समझौता, डेटा रूम का निर्माण, और बहुत कुछ जैसे दस्तावेज तैयार करना
  • संबंध प्रबंधन (Relationship Management)- किसी सौदे को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए मौजूदा ग्राहकों के साथ काम करना और यह सुनिश्चित करना कि ग्राहक प्रदान की जा रही सेवा से खुश हैं।
  • बिक्री और व्यवसाय विकास (Sales & Business Development)- संभावित ग्राहकों के साथ लगातार मिलना, उन्हें विचारों को पिच करना, उन्हें अपने काम में सहायता प्रदान करना, और मूल्य वर्धित सलाह प्रदान करना जो अंततः नए व्यवसाय को जीतेगा।
  • बातचीत (Negotiation)- एक लेन-देन में खरीदारों और विक्रेताओं के बीच बातचीत की रणनीति में एक प्रमुख कारक होने के नाते और ग्राहकों को मूल्य निर्माण को अधिकतम करने में मदद करना।

क्या होते हैं इन्वेस्टमेंट बैंक कैसे करते हैं काम, जानें इनके टाइप- चेक करें डीटेल्स

इन्वेस्टमेंट बैंक कई तरह के हो सकते हैं. इनको कई कैटेगरी में डिवाइड कर सकते हैं. ये होमोजिनस नहीं होते हैं.

इन्वेस्टमेंट बैंकों को अक्सर उनके बेचे जाने वाले फाइनेंशियल प्रॅाडक्ट के रुप में जाना जाता है. इसके साथ ही इनको भौगोलिक स्थिति के आधार पर भी कैटेगराइज्ड किया जाता है. ये बैंक रेगुलर रुप से उन डील के साइज के बेसिस पर कैटेगराइज्ड होते हैं जिनको वे मीडिएट करते हैं. डील के साइज के साथ इंवेस्टमेंट बैंकों का काम बहुत अलग होता है. जैसे कि बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया के कुछ सबसे बड़े फाइनेंशियल सर्विस ब्रांड हैं. इन बैंकों में बार्कलेज, जेपी मॉर्गन, सिटी बैंक आदि जैसी कंपनियां शामिल हैं. इन ऑर्गनाइजेशन को पहले से ही रिटेल बैंकिंग, मॅार्गेज लोन देने के लिए खास तौर से जाने जाता हैं. साथ ही ये कॉर्पोरेट बैंकिंग डोमेन में बड़े बिजनेस हित के लिए भी काम करते हैं. यही उन्हें एक ब्रांड पहचान देता है. बल्ज ब्रैकेट शब्द का यूज फेमस मल्टीनेशनल इंवेस्टमेंट बैंकों के लिए किया जाता है. बल्ज ब्रैकेट्स इस बारे में काफी चूजी हैं कि वे किसके साथ बिजनेस करते हैं. वे आमतौर पर डील में तभी शामिल होते हैं जब डील का आकार 200 बिलियन से ज्यादा हो. बल्ज ब्रैकेट इन्वेस्टमेंट बैंकों की एक और क्वालिटी ये है कि वे बहुत सारी सर्विस देते हैं जो इंवेस्टमेंट बैंकिंग से जुड़ी होती हैं जैसे कि एडवाइजरी और रिसर्च. बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया भर की अलग-अलग जगहों से ऑपरेट होते हैं. ये उन्हें एक बेहतर ग्लोबल नेटवर्क डेवलप करने और कस्टमर की जरूरतों को पूरा करने के अवसर देता है. बल्ज ब्रैकेट इंवेस्टमेंट बैंक दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्मेंट बैंक हैं. इसी तरह और भी तरह के इन्वेस्टमेंट बैंक होते हैं.


मिड-मार्केट इन्वेस्टमेंट बैंक

बल्ज ब्रैकेट बैंकों के बाद इंवेस्टमेंट बैंक की अगली कैटेगरी को मिड-मार्केट इन्वेस्टमेंट बैंक कहा जाता है. जैसा कि नाम से पता चलता है कि ये मिड-मार्केट क्लाइंट और उनकी डील को टार्गेट करते हैं. इसका मतलब है कि इनका ध्यान उन डील पर होता है जो बुटीक फर्मों के लिए बहुत बड़े हैं लेकिन बल्ज ब्रैकेट के लिए बहुत छोटे हैं. इनकी डील का आकार आमतौर पर $500 मिलियन से 200 बिलियन के आसपास होता है. मिड-मार्केट इन्वेस्टमेंट बैंक पॅापुलर नहीं हैं. लेकिन उनके पास अक्सर इंवेस्टमेंट बैंकिंग क्षेत्र में जरुरी एक्सपीरियंस होता है. ये बैंक फाइंनेंशियल कम्युनिटी के बीच अच्छी तरह से जाने जाते हैं.

एलीट बुटीक इन्वेस्टमेंट बैंक कम एक्टिविटी पर फोकस करते हैं. वे हर उस एक्टिविटी में शामिल नहीं होते हैं जो बल्ज ब्रैकेट फर्मों को पेश करनी होती है. इनमें से कुछ स्पेशल बुटीक एक पर्टिकुलर सेक्टर तक सीमित होते हैं. कुछ एलीट बुटीक इंवेस्टमेंट बैंक केवल कैपिटल रिस्ट्रकचरिंग पर फोकस करते हैं. जबकि इनवेस्टमेंट बैंकिंग कुछ ऐसे भी होते हैं जो केवल मर्जर और अधिग्रहण के लिए एडवाइजरी सर्विस पर फोकस रहते हैं.

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 822