E-Commerce Platform: Nestle ने लॉन्च किया ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म! ग्राहक अब सीधे कंपनी से खरीद सकेंगे Maggi, जानिए डिटेल्स

Nestle Company:आपको बता दें कि नेस्ले ने फिलहाल अपनी ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ते जरिए दिल्ली और एनसीआर में मैगी की ऑनलाइन सप्लाई शुरू कर दी है

By: ABP Live | Updated at : 20 Oct 2022 08:32 PM (IST)

Nestle Launched E-Commerce Platform: मैगी एक ऐसी चीज है जिसे बच्चे से लेकर बड़े सभी बहुत पसंद से खाते हैं. मैगी नेस्ले (Nestle) की स्वामित्व की कंपनी है जिसने अपने ग्राहकों के लिए एक बहुत बड़ा कदम उठाया है. कंपनी ने अब अपने कंजूमर से सीधे जुड़े का फैसला किया है. अब ग्राहक मैगी को सीधे उसके ई-कॉमर्स ईकामर्स प्लेटफार्म प्लेटफॉर्म (E-Commerce Platform) से खरीद सकते हैं. इस ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर ग्राहक ना सिर्फ मैगी खरीद पाएंगे बल्कि न्यूट्रिशन से जुड़ी जरूरी काउंसलिंग भी कर पाएंगे. इस ई-कॉमर्स प्लेटफार्म के जरिए मैगी ग्राहकों को अलग-अलग प्रोडक्ट्स, कस्टमर के हिसाब से पर्सनलाइज्ड गिफ्टिंग, डिस्काउंट (Discount) और सब्सक्रिप्शन (Subscription) ऑफर करती है.

इन कंपनियां ने भी लॉन्च किया ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म
इससे पहले देश की कई बड़ी कंपनियों जैसे मामाअर्थ, Licious, हिंदुस्तान यूनिलीवर, Plum Goodness, ITC, डाबर इंडिया, मैरिको आदि कई कंपनियों ने अपने प्रोडक्ट्स को बेचने के लिए और डी2सी मार्केट तक पहुंच बनाने के लिए अपनी ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को लॉन्च कर चुकी हैं. अब मैगी ने भी अपने ग्राहकों को सीधे जोड़ने का फैसला किया है. पिछले कुछ सालों में भारत में ऑनलाइन शॉपिंग का चलन बहुत तेजी से बढ़ा है. ऐसे में ग्राहक भी समय की बचत और बाहर जाने से बचने के लिए जमकर ऑनलाइन शॉपिंग करने लगे हैं. ऐसे में बड़ी-बड़ी कंपनियां अपने ई-प्लेटफॉर्म को लॉन्च करने के लिए मजबूर हो गए हैं.

इन शहरों में शुरू की गई सुविधा
आपको बता दें कि नेस्ले ने फिलहाल अपनी ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ते जरिए दिल्ली और एनसीआर में मैगी की ऑनलाइन सप्लाई शुरू कर दी है, लेकिन कंपनी धीरे-धीरे इसे पूरे भारत में शुरू करेगी. इस मामले पर जानकारी देते हुए नेस्ले इंडिया (Nestle India) के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सुरेश नारायणन ने इस मामले पर जानकारी देते हुए बताया है कि D2C प्लेटफॉर्म के जरिए कंपनी अब अपने ग्राहकों को सीधे जुड़ पाएगी. कंपनी ने इसके लिए एक वेबसाइट www.mynestle.in लॉन्च किया है जिसके जरिए ग्राहक मैगी ऑर्डर देकर अपने घर पर इसकी डिलीवरी प्राप्त कर सकते हैं. इस प्लेटफॉर्म के जरिए कंपनी ग्राहकों की सेहत और उनकी सहूलियत दोनों का खास ख्याल रखेगी.

ये भी पढ़ें-

Published at : 20 Oct 2022 08:32 PM (IST) Tags: Nestle Maggi e-commerce platform nestle india हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

शॉपमैटिक ने उभरते बाज़ारों में व्यक्तिगत उद्यमियों और एसएमई के लिए ईकामर्स समाधानों की एक पूरी नई श्रृंखला शुरू की

Shopmatic launches a whole new range of eCommerce solutions for individual entrepreneurs and SMEs in emerging markets

Today Express News / Ajay verma / 16 दिसंबर, 2020: अंतरराष्ट्रीय ई-कॉमर्स इनेबलर शॉपमैटिक ने विविध समाधानों की शुरूआत करने की घोषणा की है, जो ई-कॉमर्स करने के तरीके में क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे। व्यक्तिगत उद्यमी और व्यवसाय अब चार अलग-अलग ई-कॉमर्स समाधानों में से चुन सकेंगे – चैट सेलिंग, सोशल सेलिंग, मार्केटप्लेस सेलिंग, या वेब स्टोर्स के माध्यम से बिक्री। ग्राहक अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप समाधान चुन सकते हैं।

यह उद्योग में पहली बार हुआ है और शॉपमैटिक के चार अलग-अलग ईकामर्स समाधानों के साथ ऑनलाइन बेचने के लिए अधिक विक्रेताओं को सक्षम बनाने के लिए तैयार है। ये पहले की ही तरह शॉपमैटिक प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध रहेंगे – 50 रुपये/$1 प्रति माह होस्टिंग शुल्क + 3% लेन—देन प्रति बिक्री या 1-वर्षीय सदस्यता योजना के लिए 1000 रुपये/$20 ईकामर्स प्लेटफार्म प्रति माह।

लाखों विक्रेता चैट (वॉट्सऐप, टेलीग्राम, लाइन, आदि) या सोशल मीडिया (फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि) पर बेचना पसंद करते हैं। शॉपमैटिक अब एक अभिनव सिंगल चेकआउट लिंक से चैट और सोशल मीडिया के विक्रेताओं को सशक्त बनाता है जो चैनल के भीतर ही बिक्री को पूरा कर सकते हैं।

ऐसे विक्रेता जो कई मार्केटप्लेस (अमेज़न, लज़ादा, शॉपी, क़ू10, आदि) में बेचना चाहते हैं, शॉपमैटिक के मार्केटप्लेस समाधान व्यापारियों को शॉपमैटिक डैशबोर्ड से बेचने, अपने व्यवसाय को प्रबंधित करने और पूरा करने में सक्षम बनाता है। व्यक्तिगत मार्केटप्लेस डैशबोर्ड में उत्पादों को अपलोड करने की जगह, शॉपमैटिक में व्यापारी व्यक्तिगत मार्केटप्लेस डैशबोर्ड संभालने की चुनौती को दूर करते हुए, शॉपमैटिक डैशबोर्ड से सभी प्रमुख संचालन को नियंत्रित करने में सक्षम होंगे।

ऐसे विक्रेता और व्यापारी जो खुद के वेबस्टोर्स बनाना चाहते हैं, शॉपमैटिक उन्हें अपने शक्तिशाली इकोसिस्टम के माध्यम से सशक्त बनाना जारी रखेगा, जिसमें भुगतान और शिपिंग एकीकरण, चैट और सोशल मीडिया बिक्री, कई सुंदर टेम्पलेट, डोमेन नाम, आदि जैसी सभी विशेषताएं होंगी।

विक्रेताओं के लिए ईकामर्स के चार अलग-अलग तरीके बनाने के अलावा, शॉपमैटिक वास्तव में एक अलग और अनूठी सिंगल चेकआउट लिंक के साथ नवाचार कर रहा है।

शॉपमैटिक में व्यापारी अपने उत्पादों के लिए सिंगल चेकआउट लिंक बना पाएंगे, जिसे वे कई चैनलों- वॉट्सऐप, फेसबुक, लाइन, टेलीग्राम, इंस्टाग्राम, ईमेल, एसएमएस, अपनी वेबसाइट या उनके फोन पर सक्षम किसी भी टैब/ऐप पर साझा कर सकते हैं। खरीदार अपने पॉइंट आॅफ एंगेजमेंट में चेकआउट कर सकते हैं और प्रासंगिक विवरण दे सकते हैं – उत्पाद के वैरिएंट चुने, भुगतान करें, और शिपिंग विकल्प चुनें। विक्रेता बेहतर विनिमय दर और संतुष्ट ग्राहकों के साथ ज्यादा बिक्री करने की उम्मीद कर सकते हैं क्योंकि खरीदारों को अपनी खरीद करने से पहले बातचीत करने की ईकामर्स प्लेटफार्म ज़रूरत नहीं होगी।

सिंगल चेकआउट लिंक लेन-देन में विविधता भी लाती है, जिसमें खरीदार अपने दोस्तों या फॉलोअर्स के साथ वही लिंक साझा कर ईकामर्स प्लेटफार्म सकते हैं, जिससे विक्रेताओं को विस्तारित दर्शकों तक पहुंचने से लाभ होता है।

शॉपमैटिक आॅनलाइन विक्रेताओं की डिजिटल यात्रा को सरल बनाने वाली विशेषताओं, ईकामर्स प्लेटफार्म पेशकश और समाधानों को पेश करके उन्हें सफल बनाने की अपनी प्रतिबद्धता जारी रखता है। प्लेटफ़ॉर्म के नए ई-कॉमर्स समाधान का निर्माण इस ग्राहक-केंद्रित दृष्टिकोण के आधार पर किया जाएगा, क्योंकि शॉपमैटिक के विक्रेता अब अपनी सफलता का समर्थन करने वाले शॉपमैटिक के इकोसिस्टम के साथ अपने प्रासंगिक ईकामर्स समाधान का चुनाव कर पाएंगे।

इस लॉन्च पर बात करते हुए, शॉपमैटिक के सह-संस्थापक और सीईओ, श्री अनुराग अवुला ने कहा, “सालों तक छोटे और मध्यम आकार के व्यापारियों और व्यक्तिगत उद्यमियों के साथ मिलकर काम करने के साथ, हम विभिन्न तरह के ग्राहकों की अनूठी जरूरतों को समझते हैं। हम मानते हैं कि सभी विक्रेताओं को एक समाधान दृष्टिकोण पेश करना कुछ विक्रेताओं के लिए चुनौतीपूर्ण होता है और उभरते बाजारों में व्यापारियों के एक छोटे से हिस्से को सेवाएं देता है। नए समाधान के साथ, हम बेहद उत्साहित हैं कि अब हम उभरते बाजारों के लाखों विक्रेताओं को ईकामर्स इकोसिस्टम में ला सकते हैं। हम चार अलग-अलग ईकामर्स समाधान और सिंगल चेकआउट लिंक के रोमांचक नवाचारों से खुश हैं जो विक्रेताओं को आसानी और तेज़ी से सफल बनाने में सक्षम होंगे। हम मानते हैं कि यह अनूठे और प्रासंगिक ईकामर्स समाधानों के साथ विक्रेताओं का समर्थन करने की हमारी निरंतर कोशिशों में परिवर्तनकारी साबित होगा।”

व्यापारियों को ऑनलाइन ईकामर्स प्लेटफार्म बिक्री के लिए अपने पसंदीदा दृष्टिकोण को तय करने और डिज़ाइन करने में सक्षम बनाने के अलावा, शॉपमैटिक इकोसिस्टम पैकेज भी दे रहा है जिसमें स्टार्टर गाइड और ऑनलाइन परामर्श शामिल हैं, जो डिजिटल विज्ञापन, वेब-स्टोर डिज़ाइनिंग, स्टोर एसईओ को बेहतर बनाना, सोशल मीडिया मार्केटिंग, और बाकी सब जैसे कई सारे महत्वपूर्ण विषयों को कवर करते हैं।

शॉपमैटिक व्यापार मालिकों को अपना व्यवसाय अपने तरीके से चलाने सहूलियत देकर और अपने ग्राहकों को सफल बनाने के लिए उनका समर्थन करके ईकॉमर्स को फिर से गढ़ रहा है।

नौकरियों पर पड़ेगी ऑटोमेशन की मार, ई-कॉमर्स से आईटी तक पर असर

​नौकरियों के सृजन में कमी

रोजगार के अवसर को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं. नौकरियों की संख्या बढ़ाना काफी मुश्किल हो रहा है. कर्मचारियों की भर्ती से जुड़ी कंपनी टीमलीज सर्विसेज ने इस विषय में दो नए रुझान पेश किए हैं. ये बेहद निराशाजनक स्थिति की तरफ इशारा कर रहे हैं.

नौकरी देने वाले कई बड़े सेक्टर्स में रोजगार के अवसर में भारी गिरावट देखने को मिल सकती है. इसका ईकामर्स प्लेटफार्म अर्थ है कि नई नौकिरियों के नए मौके कम पैदा होंगे. ईटी आपको बता रहा है कि क्या कहती है यह रिपोर्ट:

​किन सेक्टर्स पर पड़ेगा असर?

​किन सेक्टर्स पर पड़ेगा असर?

इस रिपोर्ट के मुताबिक, ई-कॉमर्स, बैंकिंग, बीमा और वित्त सेवा और बीपीओ आधारित आईटी सेवाओं पर प्रभाव पड़ सकता है. साल ईकामर्स प्लेटफार्म 2018-22 की तुलना में साल 2019-23 तक इन सेक्टर्स में 37 फीसदी तक नौकरियां घट सकती हैं.

इसके अलावा मार्केटिंग, विज्ञापन, कृषि, एग्रोकेमिकल्स, टेलिकॉम, केपीओ, आईटी, मीडिया और एंटरटेनमेंट, स्वास्थ्य और फार्मा सेक्टर्स में भी नौकरियों की संख्या में गिरावट आने वाली है.

​सरकार को उठाने होंगे जरूरी कदम

​सरकार को उठाने होंगे जरूरी कदम

टीमलीज सर्विसेज ने दो रिपोर्टों से डेटा लिया है. इसमें 'द जॉब्स एंड सैलेरीज प्राइमर 2019' और वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही की एंप्लॉयमेंट आउटलुक रिपोर्ट' शामिल हैं. इन आकंड़ों में स्थाई और अस्थाई, दोनों ही नौकरियां शामिल हैं.

टीमलीज की कार्यकारी वाइस प्रेसिडेंट रितुपर्णा चक्रवर्ती ने कहा, "चार साल में नौकरियों के सृजन का अनुमान बताता है कि दीर्घावधि में ज्यादातर सेक्टर्स में नौकरियों की संख्या कम होगी. सरकार को रोबोटिक्स, ऑटोमेशन और AI से पड़ने वाले असर से निपटने के लिए समय रहते प्रयास करने होगे."

Nykaa IPO: शेयर बाजार में नायका की बंपर लिस्टिंग, 1 लाख करोड़ के पार हुआ बाजार पूंजीकरण

डिंपल अलावाधी

Nykaa IPO: आज नायका की होल्डिंग कंपनी एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स लिमिटेड के शेयर बाजार में सूचीबद्ध हुए। कंपनी का बाजार पूंजीकरण 1 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया।

Nykaa IPO Listing

  • नायका की होल्डिंग कंपनी FSN E-Commerce Ventures Ltd के शेयर आज स्टॉक मार्केट पर लिस्ट हुए।
  • नायका का आईपीओ 28 अक्टूबर को खुला था। यह 1 नवंबर को बंद हुआ था।
  • नायका ने आईपीओ का प्राइस बैंड 1085 से 1125 रुपये तय किया था।

Nykaa IPO: नायका (Nykaa) की होल्डिंग ईकामर्स प्लेटफार्म कंपनी एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स (FSN Ecommerce Ventures) के शेयरों की बुधवार को दलाल स्ट्रीट पर धमाकेदार शुरुआत हुई। ब्यूटी प्रोडक्ट्स रिटेलर के शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर 89 फीसदी बढ़कर 2,129 रुपये हो गए, जबकि इसका इश्यू प्राइस 1,125 रुपये था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर भी शेयर ने शुरुआत में 2,129 रुपये का उच्च स्तर बनाया। मजबूत लिस्टिंग के साथ, एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स का बाजार पूंजीकरण लगभग 1 लाख करोड़ रुपये तक बढ़ गया है।

पिछले हफ्ते एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स के प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव (IPO) लगभग 82 गुना ओवरसब्सक्राइब हुआ था और इसके लिए 2.40 लाख करोड़ रुपये की बोली लगाई गई थी। यह टेक स्टार्टअप के लिए मजबूत निवेशक मांग को दर्शाता है।

मालूम हो कि Nykaa एक उपभोक्ता प्रौद्योगिकी मंच (consumer technology platform) है, जो उपभोक्ताओं को लाइफस्टाइल रिटेल अनुभव प्रदान करता है। कंपनी के पास सौंदर्य, पर्सनल केयर और फैशन उत्पादों का एक विविध पोर्टफोलियो है, जिसमें उनके द्वारा निर्मित अपने ब्रांड के उत्पाद भी शामिल हैं। कंपनी की स्स्थापक पूर्व निवेश बैंकर फाल्गुनी नायर हैं। फाल्गुनी नायर, उनके पति संजय नायर और उनके दो बच्चों ईकामर्स प्लेटफार्म की FSN ई-कॉमर्स वेंचर्स में 53 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी है। कंपनी का 60 फीसदी से अधिक कारोबार टियर II और III शहरों से आता है। ऑनलाइन उपस्थिति के अलावा इसके 38 शहरों में 73 स्टोर हैं।

ये है कंपनी की योजना
आईपीओ से जुटाई गई 630 करोड़ रुपये की नई पूंजी का इस्तेमाल कंपनी ब्रांड विजिबिलिटी, स्टोर विस्तार और कर्ज चुकाने में करेगी। वित्त वर्ष 2021 में ब्यूटी एंड पर्सनल केयर (BPC) का सकल व्यापारिक मूल्य (GMV) में लगभग 84 फीसदी हिस्सा था, जबकि बाकी का योगदान कपड़े और सहायक उपकरण सहित फैशन खंड द्वारा किया गया था। यह 2,500 से अधिक घरेलू और अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों की 2,50,000 से अधिक वस्तुओं या स्टॉक-कीपिंग इकाइयों (SKUs) की बिक्री करता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

भारत का सरकारी eCommerce जानिए, Flipkart और Amazon से मिलता हैं सस्ता समान

सरकार के डिजिटल खरीद पोर्टल सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) पर उपलब्ध कुछ सामानों की कीमतें अमेज़ॅन, फ्लिपकार्ट और कंपनी की वेबसाइटों जैसे अन्य ऑनलाइन प्लेटफार्मों की तुलना में कम है. इसका खुलासा सोमवार को पेश किए गए इकनॉमिक सर्वे 2021-22 में हुआ है. इसके तहत, GeM सहित अलग-अलग पोर्टलों पर उपलब्ध 22 प्रोडक्ट्स की तुलना की गई है. इनमें 10 प्रोडक्ट्स ऐसे हैं, जिनकी कीमतें GeM पर अन्य पोर्टलों की तुलना में लगभग 9.5 प्रतिशत कम थीं. 2020-21 के आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार, इन उत्पादों की कीमतें अमेज़न, फ्लिपकार्ट और कंपनी की वेबसाइटों की तुलना में औसतन 3 प्रतिशत कम थीं.

RelatedPosts

दिल्ली से गोवा नही बल्कि ऋषिकेश में मिल जाएगा 9 बीच का मज़ा, 350 के किराया में हो जाएगा काम

दिल्ली में कोरोना के खिलाफ एक्शन की तैयारी, बढ़ेगी जांच

दिल्ली पटना रूट पर 6 बस दौड़ेगी रोज़ाना, बिहार आने जाने वालों के लिए तोहफ़ा.

प्रिंसिपल इकनॉमिक एडवाइजर संजीव सान्याल ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, “हम GeM पोर्टल पर उपलब्ध सामानों की कीमतों की तुलना Amazon, Flipkart जैसे पोर्टलों से करते हैं. ऐसा यह देखने के लिए करते हैं कि कीमतों में कोई बड़ा अंतर तो नहीं है. हमने पाया कि कुल मिलाकर वे एक ही बॉलपार्क में हैं और जीईएम पोर्टल पर कीमतें वास्तव में अमेज़ॅन या फ्लिपकार्ट की कीमतों से थोड़ी कम हैं.”

ये प्रोडक्ट्स हैं सस्ते

इकनॉमिक सर्वे के मुताबिक, 6 जनवरी, 2022 की तारीख पर GeM और अन्य ईकामर्स प्लेटफार्म पोर्टलों पर कीमतों की तुलना करने वाले टेबल में पार्कर जोटर स्टैंडर्ड बॉल पेन, रोरिटो ग्रीट्ज़ जेल पेन मैक्सट्रॉन गोल्ड रोबोटिक फ्लूइड इंक सिस्टम पेन-ब्लू, सैमसंग बेसिक टेलीविज़न टीवी 43 इंच एलईडी बैकलिट एलसीडी, मिल्टन 1500ml थर्मस, नीलकमल डस्टबिन 60 लीटर, बजाज पल्सर 220 एफ जैसे प्रोडक्ट्स GeM पर सस्ते थे. इसके अलावा, गोदरेज इंटेरियो एलीट मिड बैक चेयर, गोदरेज इंटीरियो स्टील अलमीरा 2400 mm (स्लाइड एन स्टोर कॉम्पैक्ट ईकामर्स प्लेटफार्म प्लस वार्डरोब), गोदरेज इंटरियो राइन 3-सीटर रिक्लाइनर और एम्ब्रेन 27000mAh ली-पॉलिमर पावरबैंक टाइप सी जैसे प्रोडक्ट्स भी अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म की तुलना में GeM पर सस्ते थे. हालांकि, सैंपल कंपैरिजन में ऐसे प्रोडक्ट्स भी हैं, जिनकी कीमत अन्य प्लेटफार्मों की तुलना में GeM पर ज्यादा थीं.

Economic Survey 2021-22 Govt’s GeM portal cheaper than Amazon, Flipkart, for various products

GeM डेटा के अनुसार, इस प्लेटफॉर्म पर 36.7 लाख MSME और अन्य सेलर्स हैं, जिनमें से 7.47 लाख माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइजेज (MSE) सेलर हैं और 57,578 खरीदार हैं. मौजूदा ट्रांजेक्शन वैल्यू 1,87,509 करोड़ रुपये था, जिसमें एमएसई ऑर्डर वैल्यू 56 प्रतिशत था

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 192